Translate This Website In Any Language

Business Ideas For Labour : श्रमिक एवं मजदुर कम लागत में शुरू कर सकते हैं ये बिज़नेस

Business Ideas For Labour : श्रमिक एवं मजदुर कम लागत में शुरू कर सकते हैं ये बिज़नेस

Low Investment Business for Labours

देश में लगे कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन से जिस पर सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ा है वह है श्रमिक. ऐसा इसलिए है क्योकि वे रोज की मजदूरी करके रोज पैसा कमाते हैं और अपना घर चलते हैं. लेकिन इतने लंबे समय के लॉकडाउन ने उन्हें रोटी के लिए यहाँ वहां भटकने पर मजबूर कर दिया है. हालांकि सरकार ने ऐसे लोगों की मदद के लिए काफी सहायता भी दी है, लेकिन फिर भी श्रमिक इस समस्या से जूझ रहे हैं. श्रमिकों की इन मुश्किलों को कम करने के लिए हम यहाँ कुछ आइडियाज उनके लिए लेकर आये हैं. जिससे वे अच्छी कमाई कर सकते हैं. और आपका घर का खर्चा उठा सकते हैं. तो चलिए देखते हैं कौन आइडियाज हैं जो श्रमिकों की पैसे कमाने में मदद कर सकते हैं.


Business Ideas For Labour


श्रमिकों या मजदूरों के लिए कुछ ऐसे व्यवसाय आइडियाज की जानकारी यहाँ हम प्रदर्शित कर रहे हैं, जिसे श्रमिक बहुत कम लागत में शुरू कर सकता है. आज के टाइम में आपको बहुत सारे बिज़नस ऐसे मिल जायेंगे जिन्हें आप आसानी से और कम लागत में शुरू कर सकते हैं आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको बतायेंगे की श्रमिक और मजदूर कम लागत में कौन से बिज़नस शुरू कर सकते हैं अगर आप इसके बारे में पूरी जानकारी चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरुर पढ़िये.



श्रमिक एवं मजदुर कम लागत में शुरू कर सकते हैं ये बिज़नेस (Business Ideas for Labour)

अगर श्रमिक वर्ग अपना स्वयं का बिज़नस शुरू करना चाहते हैं तो वे कुछ इस तरह के बिज़नस शुरू कर सकते हैं जिसमे आपक कम लागत हो और प्रॉफिट भी अच्छा हो.

लॉकडाउन की इस समय में सभी लोगों को इस बात का बहुत ज्यादा एहसास हुआ है कि आर्थिक संकट किसी के द्वार भी खटखटा सकता है. आज के समय में सबसे ज्यादा अगर कोई वर्ग प्रभावित हुआ है तो वह था श्रमिक वर्ग और आज श्रमिक वर्ग के पास ना तो रहने को छत बची है और ना ही दो वक्त की रोटी खाने के लिए पैसा. आज वह नौकरी की तलाश में इधर-उधर भटक रहे हैं, ऐसे में सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि फिर से इन श्रमिकों को रोजगार मिल सके लेकिन फिर भी अगर कोई श्रमिक मजदूरी करने के अलावा अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करना चाहता है तो उसके लिए सरकार द्वारा प्रधानमंत्री स्व निधि लोन योजना शुरू की गई है जिसके अंतर्गत 10,000 रूपये तक का लोन सरकार इन लोगों को स्वयं का व्यवसाय शुरू करने के लिए दे रही है.


तो आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि अगर श्रमिक वर्ग अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, तो कौन से व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, जिनकी लागत कम से कम हो और जिन में शैक्षणिक योग्यता जरूरी ना हो।



फूलों का बिज़नेस

फूलों से डेकोरेशन सभी को बहुत अधिक पसंद होता हैं खास कर शादियों एवं पार्टियों में होने वाले डेकोरेशन अधिकतर विभिन्न तरह के फूलों से किये जाते हैं. इसलिए विभिन्न तरह के फूलों की मांग हमेशा बनी रहती है. इसका व्यवसाय न सिर्फ पढ़े लिखे लोग बल्कि कम पढ़े लिखे श्रमिक या मजदूर भी कर सकते हैं. श्रमिकों एवं मजदूरों के लिए यह एक बेहतर व्यवसाय साबित हो सकता है. दरअसल शादी एवं पार्टियों का आयोजन करने वाले लोग विभिन्न तरह के फूल खरीदने के लिए बाहर जाते हैं और वहां यदि श्रमिक या मजदूर इस व्यवसाय को करते हैं, तो वे लोग उनसे संपर्क करके फूलों की खरीदी कर सकते है. इससे श्रमिकों को काफी फायदा मिलेगा.



डेकोरेशन का काम

फूल डेकोरेशन

जी हां दोस्तों सबसे ज्यादा अगर पसंदीदा डेकोरेशन होता है तो वह फूलों का होता है और इस तरह के डेकोरेशन के लिए फूलों को एकत्र करना बहुत बड़ी परेशानी का काम नहीं है और आसानी से कोई भी व्यक्ति फूलों को एकत्र कर उसका एक बहुत सुंदर डेकोरेशन में इस्तेमाल कर सकता है. आज के समय में शादी विवाह के अवसर पर काफी ज्यादा डेकोरेशन की मांग है तो इस तरह का काम कोई भी व्यक्ति कम लागत में एवं बिना पढ़ा लिखा व्यक्ति भी इसे शुरू कर सकता है। लेकिन हां इसके लिए यह बहुत जरूरी है कि व्यक्ति को फूलों की बहुत अच्छी परख हो।



ज़ेरॉक्स मशीन या फोटोकॉपी मशीन का काम

विभिन्न सरकारी कामों के लिए लोगों को अपने दस्तावेजों की फोटोकॉपी की आवश्यकता होती है. ऐसे में वे फोटोकॉपी की दूकान में जाते हैं. यदि श्रमिक या मजदूर अपने गांव में रहकर ही फोटोकॉपी मशीन स्थापित करके एक दूकान ओपन करते हैं. इससे उनकी बहुत अछ्छी कमाई हो सकती हैं. इसके लिए जरुरी नहीं है कि वह श्रमिक या मजदूर बहुत बढ़ा लिखा हो कम पढ़े लिखे श्रमिक या मजदूर भी इस दूकान को खेल सकते हैं. लेकिन इसके लिए बस इतना आवश्यक है कि श्रमिक या मजदूर को फोटोकॉपी मशीन चलाते आना चाहिए. शहर में रहकर यदि इस बिज़नेस की शुरुआत करते हैं तो यह दूकान सरकारी कर्यालय, स्कूल या फिर न्यायलय कर पास खोलना ज्यादा फायदेमंद होगा. मशीन लेने के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का सहारा ले सकते हैं.



होम डेलीवरी का काम

आज के टाइम में बहुत जरूरी है कि कई घरों में होम डेलीवरी काफी आसानी से हो जाती है और इसमें कमाई भी काफी ज्यादा है बड़े शहरों में होम डिलिवरी काफी आसानी से हो जाती है लेकिन छोटे घरों में यह काम बहुत ही कम मात्रा में किया जाता है लेकिन आज जब पूरी दुनिया में महामारी फैली हुई है उस समय सभी को होम डेलीवरी का बहुत ज्यादा ही जरूरत महसूस हो रही है और छोटे शहरों में होम डेलीवरी की सुविधाएं ज्यादा नही है इसीलिए यह बहुत अच्छा समय है कि आप चाहे तो कम लागत में होम डिलिवरी का बिज़नस शुरू कर सकते हैं जिसके अंतर्गत वह नियमित तौर पर किराने का सामान सब्जी फल दवाइयां आदि होम डिलीवरी अपनाकर आसानी से अपने कस्टमर्स तक पहुंचा सकता है.



टिफिन सेंटर का काम

टिफिन सेंटर का बिज़नस एक सदाबहार बिज़नेस के जैसा है टिफिन सेंटर की जरूरत सभी जगह बहुत ज्यादा होती है और आज महामारी के कारण बड़े बड़े रेस्टोरेंट तक बंद हो चुके हैं तो ऐसे में घर का बना स्वच्छ भोजन जिसकी डिमांड काफी ज्यादा बढ़ जाती है इस तरह कोई भी श्रमिक व्यक्ति अपने घर से स्वादिष्ट एवं स्वच्छ खाने का टिफिन तैयार करके उसे घर-घर तक पहुंचा सकता है इस समय में भी बहुत ज्यादा लागत की जरूरत नहीं होती है और ना ही कोई डिग्री की जरूरत है इसमें केवल खाने के स्वाद की जरूरत होती है इस बिजनेस को हर व्यक्ति कम लागत में कर सकता है.



पूजा पाठ की सामग्री की दुकान

हमारे देश में मंदिरों एवं घरों में पूजा पाठ अक्सर होती रहती है. ऐसे में विभिन्न सामग्री की भी आवश्यकता होती है. यदि श्रमिक या मजदूर पूजा पाठ की सामग्री थोक में खरीद कर इसकी दूकान शुरू करते हैं तो इसमें उन्हें अच्छा मुनाफा हो सकता है. इसके लिए उन्हें ज्यादा पढ़ा लिखा होना भी आवश्यकता नहीं है. पूजा पाठ की सामग्री की मांग बाजार में हमेशा बनी रहती हैं. इसलिए इस बिज़नेस की भी मांग ज्यादा रहेगी.


मंदिरों के आस-पास पूजा पाठ की सामग्री की दुकान होना बहुत ज्यादा जरूरी होता है तो इस तरह की दुकान भी बहुत आसानी से बहुत कम लागत और कम स्पेस में आसानी से शुरू कर सकते हैं किसी भी मंदिर के आसपास बिज़नस शुरू करने के लिए पूजा पाठ की सामग्री की दुकान मंदिरों के आसपास पूजा पाठ की सामग्री की दुकान की पहुँच ज्यादा जरूरत होती है तो इस तरह की दुकान भी बहुत आसानी से बहुत ही कम जगह में एवं कम लागत में शुरू की जा सकती है किसी भी मंदिर के आसपास पूजा पाठ की सामग्री की दुकान काफी ज्यादा मुनाफा कमाती है.




CONCLUSION

तो ये थे श्रमिकों या मजदूरों एक लिए कुछ कम लागत वाले व्यवसाय के कुछ आइडियाज, जिसे वे अपने लिए कमाई का साधन बनाकर अपने भविष्य को सवार सकते हैं.

तो यह थे वह आईडिया जिसके तहत कोई भी श्रमिक व्यक्ति आसानी से अपना स्वयं का बिजनेस शुरू कर सकता है और इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री स्व निधि योजना के अंतर्गत लोन भी प्रदान किया जा रहा है तो जल्द ही अपना स्वयं का रोजगार शुरू करें और दूसरों को रोजगार प्रदान करें।

इसमें हमने आपको कुछ ऐसे बिज़नस आइडियाज के बारे में बताया है जिन्हें आप कम लागत और कम समय में आसानी से शुरू कर सकते हैं


Post a Comment

0 Comments