Translate This Website In Any Language

सरकारी राशन की दुकान कैसे प्राप्त करें?

सरकार दे रही है राशन दुकान खोलने का सुनहरा मौका, होगी बंपर कमाई, ऑनलाइन आवेदन शुरू

सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें?

सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें,2022 ऑनलाइन आवेदन, डीलरशिप, नियम, लाइसेंस (उचित मूल्य, सस्ते गल्ले) (Ration Dukaan Depot, Fair Price Shop, PDS, License)


सरकारी राशन की दुकान कैसे प्राप्त करें (sarkari rashan ki dukan kaise khole) : जैसा कि सभी लोग जानते हैं कि हमारे देश में लगातार तेजी से जनसंख्या में वृद्धि होती जा रही है, ऐसे में देश के प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार मिल पाना बहुत ही मुश्किल हो गया है, जिसके कारण ज्यादातर लोग खुद का ही व्यवसाय करना उचित समझते हैं।


sarkari rashan dukan 2023


खुद का व्यवसाय सबसे अच्छा एवं सरल भी होता है, क्योंकि हमें इसमें ज्यादा रिस्क लेने की जरूरत भी नहीं होती है और ना ही किसी के नीचे काम करना होता है। आज हम आप सभी लोगों को एक ऐसे व्यवसाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे पूरी तरह से सरकारी व्यवसाय कहा जाता है।


आप में से कुछ लोग कभी ना कभी तो सरकारी राशन की दुकानों पर जाकर राशन तो जरूर ही खरीदा होगा, तो ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है कि जब दुकान कैसे खोली जाती है और कौन खोल सकता है। अगर आप भी एक सरकारी दुकान खोलना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होने वाला है।


राशन कार्ड से राशन हमें सरकारी राशन की दुकान से मिलता है। राशन वितरण करने वाले व्यक्ति / स्व सहायता समूहों को राशन वितरण करने के लिए आमदनी के रूप में कमीशन मिलता है। अगर आप बेरोजगार है या अतिरिक्त आय कमाना चाहते है तो सरकारी राशन दुकान खोल सकते है। लेकिन क्या आप जानते है कि राशन दुकान कैसे खोलें ?


खाद्य विभाग द्वारा राशन कार्ड की संख्या के अनुरूप सरकारी राशन दुकान का प्रदान किया जाता है। जिससे राशन वितरण में आसानी हो और हितग्राहियों को राशन प्राप्त करने में परशानी ना हो। अगर आप भी सरकारी राशन की दुकान खोलकर अतिरिक्त आय कमाना चाहते है तो इसके लिए आवेदन कर सकते है। यहाँ हमने सरकारी राशन की दुकान कैसे प्राप्त करें इसकी स्टेप by स्टेप सम्पूर्ण जानकारी प्रदान कर रहे है।


आज हम आप सभी लोगों को इस लेख में राशन की दुकान की जानकारी (rashan ki dukan ki jankari) जैसे सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें? सरकारी राशन की दुकान कौन खोल सकता है और सरकारी राशन की दुकान के लिए लाइसेंस कैसे जारी किया जाता है? इत्यादि विषय पर विस्तार पूर्वक से जानकारी बताने वाले है।


सरकारी राशन बाँटने की दुकान क्या है?

सरकारी राशन की दुकान क्या है?

राशन की दुकान वह होती है, जहां पर राशन कार्ड धारकों को बहुत ही कम मूल्यों में राशन प्रदान किया जाता है। सरकारी राशन की दुकान ऐसी दुकान होती है, जिसे सरकार की तरफ से आवश्यक वस्तु अधिनियम धारा 3 के अंतर्गत उचित मूल्य पर आवश्यक वस्तुओं को प्रदान करने के लिए लाइसेंस जारी किया जाता है।


यह लाइसेंस किसी भी आवेदक करता को ऐसे ही नहीं दे दिया जाता। यह लाइसेंस सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अनुरूप जारी किया जाता है, अतः इसकी कुछ प्रोसेस भी होती है, जिनके बारे में नीचे बताया जाएगा।


आप इस वाक्यांश को इस तरह से समझ सकते हैं कि सरकार के द्वारा राशन (गेहूं, चावल, चीनी, दाल इत्यादि) बहुत ही कम कीमतों में निर्धारित किया जाता है, जिसे निर्धारित दर पर राशन वितरण के पास पहुंचा दिया जाता है और राशन वितरण अपने क्षेत्र के लोगों को उन्हीं कीमतों में राशन देता है। इन राशन की दुकानों को उचित मूल्य की राशन दुकान के नाम से भी जाना जाता है।




राशन की दुकान कौन खोल सकता है (Ration Shop Eligibility Criteria)

राशन की दुकान खोलने के लिए पात्रता अलग – अलग राज्य सरकार अलग – अलग होती हैं, किन्तु कुछ पात्रता सभी के लिए निर्धारित होती हैं जोकि इस प्रकार हैं –


  • भारत का निवासी :- राशन की दुकान खोलने के इच्छुक व्यक्ति भारत के निवासी होने चाहिये साथ ही वह जिस क्षेत्र का रहने वाला हैं उसी क्षेत्र में यह दुकान खोल सकता है.


  • आर्थिक रूप से समर्थ :- आवेदन करने वाले व्यक्ति के बैंक खाते में कम से कम 50 हजार रूपये की राशि होना आवश्यक है इसका मतलब यह है कि वह आर्थिक रूप से समर्थ हो.


  • शैक्षणिक योग्यता :- लोगों को राशन की दुकान खोलने के लिए पहले पात्रता कम से कम 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण होने की थी, जिसे अब बढ़ा कर स्नातक तक की कर दी गई है. हालांकि अलग – अलग राज्यों में यह योग्यता अलग हो सकती हैं.


  • पहले से लाइसेंस प्राप्त आवेदनकर्ता नहीं कर सकते आवेदन :- ऐसे व्यक्ति जिन्होंने पहले एक बार राशन की दुकान के लिए लाइसेंस प्राप्त कर लिया हैं लेकिन किसी कारण से उनका लाइसेंस रद्द कर दिया गया हैं तो वह इसके लिए दोबारा आवेदन नहीं कर सकता है.


  • कानूनी दोषी :- ऐसे व्यक्ति जो आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955 के तहत दोषी है. वह भी इसके लिए पात्र नहीं होगा.


  • अन्य लाइसेंस :- यदि किसी व्यक्ति के पास पहले का खाद्यान्न विभाग की ओर से दिया जाने वाला खाने के तेल, चीनी, गेहूं, चावल आदि का लाइसेंस प्राप्त है. तो वह भी राशन की दुकान के लिए आवेदन नहीं कर सकता है.




सरकारी राशन की दुकान कैसे प्राप्त करें ?


  • सरकारी राशन दुकान की प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आवेदन करना होगा। आवेदन फॉर्म आपको खाद्य विभाग से मिलेगा।

  • राशन दुकान खोलने हेतु आवेदन फॉर्म ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते है। यहाँ दिए गए लिंक के द्वारा आप पीडीएफ में फॉर्म का नमुना प्राप्त कर सकते है – लिंक

  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद सबसे पहले आवेदक का का नाम, पिता/पति का नाम एवं पता साफ अक्षरों में भरें।

  • आवेदक की जन्म तिथि एवं शैक्षणिक योग्यता अनिवार्य रूप से भरें।

  • आवेदन फॉर्म में स्व – सहायता समूह का विवरण ध्यान से भरें।

  • किस स्थान में सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते है उसका स्पष्ट उल्लेख कीजिये।

  • व्यक्तिगत जानकारी के साथ आवेदन फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी को ध्यान से भरें। अधूरे आवेदन जमा करने से आपका आवेदन अस्वीकार हो सकता है।

  • आवेदन फॉर्म के साथ आवश्यक सभी दस्तावेज लगाना अनिवार्य है। इसकी पूरी लिस्ट हमने नीचे दे दिया है।

  • पूर्ण रूप से तैयार किये गए आवेदन फॉर्म को अनुमंडल पदाधिकारी/खंड विकास अधिकारी के पास जमा करें।

  • सरकारी राशन दुकान हेतु प्राप्त आवेदनों की जाँच जिलास्तरीय चयन समिति द्वारा किया जायेगा।

  • चयन समिति द्वारा जाँच में पात्र पाए जाने वाले आवेदकों को सरकारी राशन दुकान खोलने हेतु लाइसेंस जारी किया जायेगा।




राशन की दुकान के लिए जगह की आवश्यकता (Ration Shop Required Location and Place)

सरकारी राशन की दुकान के लिए कैसी जगह का चुनाव करना चाहिए?

यदि आप एक अच्छी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो आपको कुछ विशिष्ट जगह का चुनाव करना चाहिए, क्योंकि राशन की दुकान एक ऐसी दुकान है, जो कि परमानेंट होती है और यह दुकान आपको किसी अच्छे स्थान का चयन करके खोलना चाहिए, जिनका विवरण नीचे इस प्रकार से निम्नलिखित है:


  • यदि आपने राशन की दुकान खोलने के लिए किसी जगह को भाड़े पर लिया है तो आपको उस जगह का पूरी तरह से रेंट एग्रीमेंट करा लेना चाहिए, एग्रीमेंट कराने के बाद ही आपको राशन की दुकान शुरू करनी चाहिए।

  • यदि आप खुद की कोई जमीन लेकर सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो आपको यह जमीन लगभग 7 से 15 फीट चौड़ी रोड के आसपास लेनी चाहिए, ताकि लोगों को राशन लेकर आने जाने में किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई ना हो।

  • आप अपनी आवश्यकतानुसार अपने दुकान की ऊंचाई 3 मीटर से लेकर एक सामान्य घर की लंबाई जितनी रख सकते हैं।

  • आपको दुकान के साथ-साथ एक गोदाम भी लेना पड़ सकता है, यदि आप राशन की दुकान छोटी बनवाते हैं तो आपको गोदाम भी बनवाना होगा, क्योंकि आपको राशन भी रखना पड़ता है।

  • आपको राशन की दुकान खोलने के लिए किसी विशेष और स्थान की आवश्यकता नहीं है जैसे कि हाईवे या फिर कोई अन्य आवागमन वाला क्षेत्र आप सरकारी राशन की दुकान कहीं पर भी खोल सकते हैं, परंतु आपके दुकान तक एक अच्छी और चौड़ी रोड होनी चाहिए, ताकि लोग बिना कठिनाई के आ जा सके।




सरकारी राशन की दुकान प्राप्त करने हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड।

  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र।

  • आरक्षण वर्ग का प्रमाण पत्र।

  • शैक्षणिक योग्यता सम्बन्धी प्रमाण पत्र।

  • आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष हो, इस आशय का प्रमाण पत्र।

  • आवेदक के परिवार का किसी भी सदस्य के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3/7 में अभियोग पंजीकृत ना होने सम्बंधित शपथ पत्र।

  • आवेदक के परिवार में किसी अन्य सदस्य के नाम कोई राशन दुकान आबंटित न हो, इस आशय का प्रमाण पत्र।

  • आवेदक के ग्राम प्रधान का पारिवारिक सदस्य न होने सम्बंधित शपथ पत्र।

  • आवेदक के बैंक खाते में न्यूनतम 40 हजार रूपये होने सम्बंधित शपथ पत्र।

  • पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्गत चरित्र प्रमाण पत्र।

  • जिला अधिकारी द्वारा निर्गत चरित्र प्रमाण पत्र।




सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए आवेदन कैसे करें?

राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 2 क्षेत्रों के लिए अलग-अलग प्रक्रियाएं चुननी पड़ेंगे। यदि आप शहरी क्षेत्र से बिलॉन्ग करते हैं और सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस जारी करवाना चाहते हैं, तो आप इसके लिए ऑनलाइन प्रक्रिया का चयन कर सकते हैं।


ठीक इसके विपरीत यदि आप ग्रामीण क्षेत्र से बिलॉन्ग करते हैं तो आपको इसके लिए ऑनलाइन प्रक्रिया नहीं बल्कि ऑफलाइन प्रक्रिया का चयन करना पड़ेगा, क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अभी तक ऑनलाइन प्रक्रिया जारी नहीं की गई है। 


यदि आप शहरी इलाकों में रहते हैं तो आपको राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं. लेकिन यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रह रहे हैं तो इसके लिए प्रक्रिया अभी ऑफलाइन रखी गई है. यहाँ हम आपको दोनों क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया बता रहे हैं –




ग्रामीण क्षेत्र के लिए सरकारी राशन की दुकान खोलने की प्रक्रिया

यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रहकर सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो आपको इसके लिए नीचे बताए गए प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ेगा।


  • प्रत्येक वर्ष गांव में सहायक ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर की एक बैठक होती है, जहां पर सरकारी राशन की दुकान खोलने के उद्देश्य पर भी एक नजर घुमाई जाती है।

  • राशन की दुकान खोलने के लिए आपको इस बैठक में जाना होगा। आपको इस बैठक में राशन की दुकान खोलने का कारण बताना होगा।

  • आप राशन की दुकान केवल दो कारणों से ही खोल सकते हैं, पहला यदि आपको राशन दूर लेने जाना हो और दूसरा यदि राशन वितरण का व्यवहार अच्छा ना हो।

  • अब इस बैठक में आवेदक के नाम और उनके डिटेल्स दिए जाते हैं।

  • यहां पर आवेदक के शैक्षणिक योग्यता और अन्य डाक्यूमेंट्स की सत्यापन की जाती है।

  • ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर के द्वारा प्रत्येक आवेदक को एक फॉर्म दिया जाता है, इस फॉर्म में आवेदकों को उनसे जुड़ी सभी जानकारियों को बड़े ही ध्यान से भरना होता है।

  • जानकारियों को भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों को इसके साथ संलग्न कर देना होता है।

  • उम्मीदवारों के दस्तावेजों की जांच की जाती है, इसके बाद किसी को बिना बताएं ग्राम पंचायत के सरपंच से संपर्क किया जाता है और उनके विषय में जानकारी कलेक्ट की जाती है।

  • चयनित उम्मीदवार के आवेदन फॉर्म और सभी दस्तावेजों को ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी के पास भेज दिया जाता है इसके बाद इसे डिस्ट्रिक्ट सप्लाई ऑफीसर के पास और इसके बाद डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के पास भेज दिया जाता है।

  • इन सभी प्रक्रियाओं के बाद लाइसेंस चयनित उम्मीदवार को दे दिया जाता है।

  • और लाइसेंस मिलने के बाद आप सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए सक्षम हो जाते हैं।



इस तरह से आपको ग्रामीण क्षेत्र में राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस प्राप्त हो जाता है. और फिर आप अपनी दुकान खोल सकते हैं.



शहरी क्षेत्र के लिए सरकारी राशन की दुकान खोलने की प्रक्रिया

यदि आप शहरी क्षेत्र से बिलॉन्ग करते हैं और सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको लगभग 4000 यूनिट का एक एरिया खरीदना पड़ सकता है, यदि आपके पास यह एरिया पहले से ही है, तो आप इसके लिए सक्षम है।


अब सरकार द्वारा और संबंधित विभाग द्वारा अधिसूचना की जानकारी संबंधित वेबसाइट के माध्यम से लोगों तक पहुंचा दी जाती है, जिससे इच्छुक लोग आवेदन कर सकते हैं। आप सभी लोग इसमें आवेदन करने के लिए नीचे बताई गई प्रक्रियाओं को फॉलो कर सकते हैं और सफलतापूर्वक आवेदन भी कर सकते हैं।


  • सबसे पहले आपको इससे जुड़े हुए विभाग की ऑफिशल वेबसाइट पर चले जाना है।

  • आप जैसे ही इस वेबसाइट को ओपन करेंगे तो आपको यहां पर स्वयं को रजिस्टर करना होगा और उसके बाद लॉगिन होना पड़ेगा।

  • लॉगइन होने के बाद आप उसी पेज पर दिख रहे अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं या फिर होम पेज पर वापस आकर अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं।

  • अब आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा, आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों को बड़े ही ध्यान पूर्वक भरना है और सबमिट कर देना है।

  • आपके इस आवेदन फॉर्म में भरी गई सभी जानकारियों का निरीक्षण किया जाएगा और इसके बाद आवेदन कर्ताओं का चयन किया जा सकता है।

  • इस आवेदन पत्र में चुने गए व्यक्ति का निरीक्षण जिला आपूर्ति अधिकारी, जिला मजिस्ट्रेट, अपर मजिस्ट्रेट और मुख्य विकास अधिकारी इसके बाद राजस्व विकास अधिकारी करते हैं।

  • इन सभी परीक्षण के बाद यदि वह व्यक्ति चयनित किया जाता है तो उसे सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस दे दिया जाता है।

  • लाइसेंस प्राप्त करने के बाद आप उसी स्थान पर सरकारी राशन की दुकान खोल सकते हैं, जिस स्थान का विवरण आपने निरीक्षण के तौर पर दिया था।


इस तरह से राशन की दुकान के लिए लाइसेंस प्राप्त कर अपने क्षेत्र में राशन की दुकान खोली जा सकती हैं. आवेदकों इससे सरकार की ओर से आमदनी प्राप्त होती हैं. धीरे धीरे जन यह दुकान चलने लग जाती हैं तो यह राशन विक्रेता को अच्छा खासा मुनाफा प्राप्त होने लगता है.



निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि आपके लिए हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख “सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें? (Sarkari Rashan ki Dukan Kaise Khole)” अवश्य ही कारगर सिद्ध हुआ होगा, यदि हां तो कृपया आप हमारे इस लेख को अवश्य शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ प्राप्त कर सके। यदि आपके मन में हमारे इस लेख को लेकर किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल हो, तो आप कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं




FAQ’s

People also ask

कोटेदार का वेतन कितना होता है?

इस दौरान लंबित मांगों को लेकर विचार विमर्श किया गया। कोटेदारों ने मांग की कि उत्तर प्रदेश के कोटेदारों का कमीशन 300 रुपए कुंतल किया जाए या 30 हजार रुपए प्रतिमाह वेतन दिया जाए।


सरकारी दुकान निरस्त पर क्या करे?

यदि इस अवधि में कोई निस्तारण नहीं किया जाता है तो उस दुकान को स्वतः ही बहाल ली जाएगी और वहां का डीलर नियमानुसार काम कर सकेगा। इसके लिए उन्होंने सभी जिलों के रसद अधिकारियों को पाबंद कर दिया है कि अनियमितता के चलते या शिकायत पर जो 

दुकानें निलंबित हुई हैं, उनका निस्तारण कर खाद्य विभाग में सूचनाएं पहुंचाएं।




राशन डीलर के लिए क्या योग्यता है?

राशन डीलर बनने के लिए पात्रता क्या है ?

  • आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष हो (ये अलग-अलग राज्य में अलग हो सकता है)

  • आवेदक की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 10वीं पास हो (ये अलग-अलग राज्य में अलग हो सकता है)

  • कंप्यूटर ज्ञान रखने वाले आवेदकों को चयन में लाभ मिलेगा।

  • आवेदनकर्ता के विरुद्ध न्यायालय में कोई अपराध पंजीकृत ना हो।



Rashan की दुकान में कितना फायदा होता है?Ans : एक राशन की दुकान 2000 यूनिट पर प्रदान की जाती हैं जिसके अंदर 400 राशन कार्ड शामिल होते हैं. लेकिन सहकारी समिति या ट्रस्ट होने पर यह 4000 यूनिट तक हो सकता है. जिसके अंदर में 800 राशन कार्ड आते हैं


कोटेदार क्या होता है?

गरीब जनता को कोटेदारों के माध्यम से राशन मिलता है। इसके लिए व्यक्ति के पास राशन कार्ड होना जरूरी है। दरअसल, यह एक ऐसा कार्ड है, जिसे राज्य सरकार अपने नागरिकों को जारी करती है। इसके जरिये शासकीय उचित मूल्य की दुकान या राशन डिपो से गेहूं, चावल, नमक, चीनी, केरोसिन आदि बेहद सस्ते दामों पर प्राप्त किया जा सकता है।


फ्री वाला राशन कितना मिलेगा?

कोरोना काल में केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना शुरू की थी. इस योजना के तहत राशन कार्ड धारकों को प्रति यूनिट 5 किलो तक राशन बांटा जाता है


Q : राशन की दुकान के लिए क्या योग्यता होना आवश्यक है ?

Ans : राशन की दुकान के लिए सबसे जरुरी योग्यता यह हैं कि वह व्यक्ति कम से कम 10 वीं पास हो और साथ ही वह आर्थिक स्थिति रूप से समर्थ हो.


Q : राशन की दुकान खोलने के लिए मिलने वाले लाइसेंस की अवधि क्या है ?

Ans : राशन की दुकान खोलने के लिए मिलने वाले लाइसेंस की कोई समय सीमा नहीं है यह लाइसेंस उम्र भर चलता है.


Q : राशन की दुकान में राशन के रेट का निर्धारण कौन करता है ?

Ans : राशन की दुकान में राशन के रेट का निर्धारण सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है.


Q : राशन की दुकान खोलने में कितना मुनाफा है ?

Ans : यदि आप किसी ऐसे क्षेत्र में राशन की दुकान खोलते हैं जिसके दायरे में बहुत से राशन कार्ड धारक राशन खरीद सकते हैं तो इससे आपको काफी अधिक मुनाफा हो सकता है.


Q : राशन की दुकान कितने राशन कार्ड पर प्रदान की जाती है ?

Ans : एक राशन की दुकान 2000 यूनिट पर प्रदान की जाती हैं जिसके अंदर 400 राशन कार्ड शामिल होते हैं. लेकिन सहकारी समिति या ट्रस्ट होने पर यह 4000 यूनिट तक हो सकता है. जिसके अंदर में 800 राशन कार्ड आते हैं.

Post a Comment

0 Comments