Translate This Website In Any Language

Tyre Business Idea : टायर का बिजनेस कैसे शुरू करें ?

Tyre Business Idea : टायर का बिजनेस कैसे शुरू करें ?

Tyre Shop Business Plan in Hindi

टायर का बिज़नेस (व्यापारी, रेट, प्रकार, लाइसेंस, फ्रैंचाइज़ी, मार्केटिंग, लाभ मार्जिन), Tyre Shop Business Plan in Hindi, (Market, Prices, Sale, Model, License, Profit)


भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा सड़क नेटवर्क है और सड़क यात्रा देश में आने-जाने का पसंदीदा विकल्प है. गाड़ी के लिए सबसे जरुरी चीज होती हैं टायर, टायर के बिना गाड़ी चलाना असंभव है. टायर का बिज़नेस ऑटो मोबाइल क्षेत्र में एक प्रमुख बिज़नेस में से एक है. इन दिनों भारत में गाड़ी की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है, जिसके चलते टायर का बिज़नेस भी बहुत बढ़ रहा है. यदि आप ऑटो मोबाइल पार्ट्स के क्षेत्र में बिज़नेस करने के बारे में सोच रहे हैं तो टायर के व्यापार के साथ जा सकते हैं. इसके लिए आपको किन – किन चीजों की आवश्यकता होगी और आप इसे कैसे शुरू कर सकते हैं इसकी जानकारी हम यहाँ आज आपको देने जा रहे हैं.

Tyre Business Idea 2023


MRF, CEAT, अपोलो, मिशेलिन, JK टायर्स, ब्रिजस्टोन, गुडइयर आदि जैसे देश में पहले से ही अच्छी तरह से स्थापित टायर ब्रांड हैं. आप इनमें से किसी भी ब्रांड के साथ साझेदारी कर सकते हैं और एक सफल टायर व्यवसाय चला सकते हैं. निचे मैंने टायर बिज़नेस प्लान को अच्छी तरह से समझाया है इसलिए उसे पूरा और ध्यान से पढ़ें.



टायर बिजनेस आइडिया (Tyre Business Idea)

हर वाहन में अलग-अलग तरह के टायर का उपयोग किया जाता है। हर वाहन के टायर का साइज भी अलग होता है। यदि आप यह व्यवसाय को शुरू कर रहे हैं तो, आपको पहले गाड़ियों के बारे में जानकारी रखनी होगी। आपको हर गाड़ी के साइज के अनुसार टायर रखने पड़ेंगे। आपको गाड़ी के टायर के बारे में हर जानकारी को रखना होगा। ताकि आपका इंप्रेशन कस्टमर के सामने अच्छा बना रहे।


आपको हर टायर के बारे में अच्छी जानकारी रखनी पड़ेगी। आपको टायर के कंपनी पर भी विशेष ध्यान देना होगा। वाहन के टायर के बिजनेस में आपको अच्छा मुनाफा मिल सकता है। आप छोटे वाहन से लेकर बड़े वाहनों का भी टायर रख सकते हैं। हर साइज का टायर रखने पर बिजनेस में आपको ज्यादा मुनाफा मिलेगा।



टायर का व्यापार कैसे शुरू करें   

गाड़ियाँ विभिन्न तरह की एवं विभिन्न साइज़ की होती है. ऐसे में आपको इस बिज़नेस की शुरूआत करने से पहले सभी गाड़ियों के साइज़ के अनुसार उनके टायरों के विषय में जानकारी प्राप्त करनी होगी. क्योंकि जब आपका ग्राहक आपसे इसके बार में कुछ पूछेगा और आपको इसकी जानकारी नहीं होगी, तो आपका उस पर गलत इम्प्रैशन पड़ेगा. और आपके गलत इम्प्रैशन के कारण आपके बिज़नेस पर भी गलत प्रभाव पड़ेगा.   



टायर का व्यापार की बाजार में मांग

जब आप टायर का व्यवसाय शुरू कर रहे हैं तो आपको इसके बाजार के बारे में थोड़ी सी रिसर्च करने चाहिए, कि इस बिज़नेस की वहां कितनी मांग है, एवं इससे कितना मुनाफा हो सकता है. वैसे तो भारत में इस बिज़नेस की मांग ज्यादा ही रहती हैं, क्योंकि यहां पर अधिक मात्रा में वाहन बिक रहे हैं. हालाँकि आपको बता दें कि अधिकतर टायर जैसे प्रोडक्ट का बिज़नेस करने वाले लोग शहरों में ही होते हैं. इसलिए आप शहरी इलाकें में ही इस बिज़नेस की शुरुआत करें.



टायर के व्यवसाय में प्रोडक्ट का चयन

आपको इस बिज़नेस को शुरू करने से पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट का निरिक्षण करने की आवश्यकता होगी, ताकि आपको यह पता चल सकें कि उस क्षेत्र में किस तरह के वाहन ज्यादातर चलायें जाते हैं. फिर आप उन्हीं के अनुसार अपने इस व्यापार की शुरुआत कर सकते हैं. हालाँकि आप चाहे तो सभी तरह के वाहन के टायर रख सकते हैं जैसे कि दो चक्का, चार चक्का आदि. इसके अलावा इससे संबंधित कुछ अन्य चीजें भी आप अपने इस बिज़नेस में रख सकते हैं जैसे कि ट्यूब, रिम आदि और भी चीजें. आप वहां पर मौजूद शोरूम के बारे में भी जानकारी हासिल कर लें.



टायर के व्यवसाय के प्रकार का चयन

टायर का व्यवसाय 2 तरीकों से किया जाता है. आपको उनमें से एक का चयन करके अपना बिज़नेस शुरू करना होगा.


  • सभी कंपनी के टायर का बिज़नेस :- इस बिज़नेस में आपको खुद की एक दुकान खोलनी होगी जहां पर आप सभी कंपनी के टायर रखेंगे. और फिर उसे बेचेंगे.


  • किसी कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर :- दूसरा तरीका हैं कि आप टायर बनाने वाली किसी कंपनी से फ्रैंचाइज़ी लेकर उसका बिज़नेस कर सकते हैं. इसके लिए आप कंपनी को चुन सकते हैं जिसकी मांग बाजार में ज्यादा होती है.


हालाँकि इन दोनों ही तरह के बिज़नेस को करने में आपको मुनाफा होगा.



टायर के व्यवसाय के लिए जगह

टायर का व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको एक स्थान की आवश्यकता होगी जहां पर आप सभी तरह की कंपनी के टायर रखकर उसका बिज़नेस कर सकते हैं. या फिर जिस कंपनी कि अपने फ्रैंचाइज़ी ली हैं उस कंपनी के टायर रख सकते हैं. यह जगह एक दुकान के रूप में हो सकती है. जिसके लिए आपको कम से कम 500 से 1000 वर्ग फुट तक की दुकान की आवश्यकता होगी. यह दुकान आप ऐसी जगह पर शुरू करें जहां पर गाड़ियों का चला बहुत अधिक है यानि कि हाईवे में, यहाँ पर आपको ज्यादा मुनाफा मिलने की संभावना बढ़ सकती है.



टायर के व्यवसाय के लिए लाइसेंस एवं पंजीकरण

व्यवसाय चाहे कोई भी हो उसके लिए लाइसेंस एवं पंजीकरण करना आवश्यक होता है. इसके लिए भी आपको निम्न लाइसेंस की आवश्यकता होगी –


  • ट्रेड लाइसेंस :- व्यापार के लिए ट्रेड लाइसेंस सबसे जरूरी होता हैं इसके बिना आपका व्यवसाय कानूनी रूप से मान्य नहीं माना जायेगा.


  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन :- किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के लिए जीएसटी नंबर लेने के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन आवश्यक है. इसलिए इस बिज़नेस में भी आपको यह करना होगा.


  • शॉप एंड इस्टैब्लिशमेंट एक्ट के तहत पंजीयन :- आप अपने इस बिज़नेस के ऑटो मोबाइल क्षेत्र में दुकान खोल रहे हैं तो आपका शॉप एंड इस्टैब्लिशमेंट एक्ट के तहत पंजीयन होना भी आवश्यक है.


  • डोमेन पंजीयन :- यदि आप ऑनलाइन इस बिज़नेस की मार्केटिंग करते हैं तो आपको इसके लिए डोमेन पंजीयन कराना होगा.



टायर के व्यवसाय के लिए कर्मचारियों की आवश्यकता

आपको वैसे तो इस बिज़नेस में ज्यादा लोगों की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. लेकिन हेल्पर के रूप में आप 1-2 लोगों को रख सकते हैं जोकि वे गाड़ी से संबंधित यदि किसी ग्राहक को कोई परेशानी होती हैं वे उसे सही कर सकेंगे. लेकिन इसके लिए आवश्यक यह होगा कि उस व्यक्ति को इसके संबंध में पूरा अनुभव हो.



टायर के व्यवसाय की मार्केटिंग

आपके टायर के इस बिज़नेस की मार्केटिंग बहुत जरुरी हैं क्योंकि इसके बिना आपका बिज़नेस नहीं चल सकेगा. आपको पोस्टर एवं बैनर लगवाए होंगे ताकि ज्यादा लोगों को आपके इस बिज़नेस के बारे में जानकारी हासिल हो. शुरुआत में आपको अपने ग्राहकों को थोडा डिस्काउंट भी देना होगा, ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक आपके पास आयें. ग्राहकों कि मांग के अनुसार सभी तरह की चीजें अप अपनी शॉप में रखें क्योंकि ग्राहक भगवन होता हैं उसे कभी भी खाली हाथ नहीं लौटाया जाता है.




टायर के व्यवसाय में लगने वाली कुल लागत

टायर व्यवसाय के लिए आवश्यक निवेश

इस बिज़नेस में आपको कितना खर्च करना होगा यह आपके बिज़नेस के प्रकार पर निर्भर करता है, यदि आप सभी तरह की कंपनी के टायर का बिज़नेस शुरू करते हैं तो आपको इसमें कम से कम 5 से 7 लाख रूपये तक का निवेश करना होगा, वहीँ अगर आप किसी कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेते हैं तो उसके लिए 2 से 3 लाख रूपये की लागत लगेगी.


भारत में 2 व्हीलर और 4 व्हीलर व्हीकल टायर की दुकान शुरू करने के लिए आपको लगभग 5 लाख रुपये के निवेश की आवश्यकता होती है.


  • मशीनरी और उपकरण – 2.5 लाख

  • टायर स्टॉक – 2 से 2.5 लाख

  • दुकान का इंटीरियर और साइनेज – 25,000 रुपये

  • दुकान सुरक्षा जमा – 50,000 (आपके स्थान पर निर्भर करता है)


चल रहे खर्च हैं श्रम वेतन, उपयोगिता बिल, दुकान का किराया और स्टॉक जोड़ना.



टायर के व्यवसाय से होने वाला मुनाफा

टायर के बिज़नेस में मुनाफा की बात करें तो इससे शुरुआत में कम से कम 40 से 50 हजार रूपये तक का मुनाफा प्रतिदिन हो सकता है. लेकिन धीरे – धीरे यह मुनाफा लाखों में भी बदल सकता है. इसके लिए जरूरी हैं कि लोग आपके पास ज्यादा आयें.   


टायर व्यवसाय में लगभग 10% के लाभ मार्जिन की उम्मीद की जा सकती है. यह आपकी खरीद मात्रा पर निर्भर करता है. अगर आप बल्क ऑर्डर देते हैं तो आप ज्यादा मार्जिन की उम्मीद कर सकते हैं.


  • चीनी ब्रांड जैसे छोटे टायर ब्रांड आपको MRF जैसे बड़े ब्रांडों की तुलना में अधिक मार्जिन देते हैं.

  • आप पंचर सेवाएं प्रदान करके और टायर ट्यूब बेचकर अधिक लाभ कमा सकते हैं.

  • इस व्यवसाय में आप मौसम की स्थिति के कारण गर्मी और बरसात के मौसम में अधिक बिक्री की उम्मीद कर सकते हैं.

  • इस व्यवसाय में सफल होने के लिए आपको ग्राहकों को उचित दरों पर वास्तविक सेवा प्रदान करनी चाहिए. दुकान का समय निश्चित रखना भी एक महत्वपूर्ण कारक है.



टायर के व्यवसाय में जोखिम  

टायर के बिज़नेस में जोखिम भी बहुत होता है. इसकी सबसे बड़ी वजह होती है लोकेशन की एवं बाजार में उसकी मांग की. यदि ये दोनों दी चीजें सही रिसर्च के साथ नहीं अपनाई जाती हैं तो आपको इस बिज़नेस में नुकसान झेलना पड़ सकता है.  


तो यह था टायर का बिज़नेस जिसे शुरू करके कोई भी व्यक्ति बेहतर कमाई कर सकता है. भारत में बढती जनसंख्या एवं गाड़ियों की बढती बिक्री के चलते इस बिज़नेस का बढना लाजमी ही है. इससे अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं.



Tyre Store Business जरूरी बातों का ध्यान रखें !

यदि आप भी टायर का व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको टायरों के बारे में जानकारी एकत्रित करना चाहिए जैसे के टायर कितने प्रकार के होते हैं । टायर का विभाजन किस आधार पर होता है, दोपहिया और चार पहिया वाहनों के लिए किस कंपनी के टायर सबसे ज्यादा बिकते हैं । इन सब चीजों की जानकारी लेने के बाद ही टायर के व्यापार में उतरे ।


मार्केट रिसर्च जरूर करें

कोई भी व्यापार सफल होगा या नहीं होगा इसका एक मोटा-मोटा हिसाब लगाने के लिए मार्केट रिसर्च बहुत जरूरी होता है । यदि आप Market Research किए बिना ही कोई व्यापार शुरू कर देते हैं तो हो सकता है आप को बहुत बड़ा घाटा लग जाए इसलिए सबसे पहले Market Research करें ताकि आपको इस बात का अनुमान रहे कि आपका व्यापार कितना चल सकता है ।

Market Research करते वक्त कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें जैसे कि आप जिस पर बिजनेस शुरू करना चाहते हैं क्या वहां पर दोपहिया वाहनों के टायरों की ज्यादा मांग है या चार पहिया वाहनों के टायर की ज्यादा मांग है। साथ उस क्षेत्र में आस-पास क्या कोई Tyre की दुकान है या नही ।


Product चुने

 Market Research करने से आपको इस बात की जानकारी मिल जाएगी कि आपके क्षेत्र में किस तरह के Tyre की ज्यादा मांग है यदि दो पहिया वाहन के टायरों को ज्यादा मांग है तो आप दोपहिया वाहन के टायर बेचने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं । वही यदि चार पहिया वाले वाहनों के टायरों की ज्यादा मांग है तो चार पहिया वाले वाहनों के लिए टायर बेचना शुरू कर सकते हैं । आपकी शॉप में Tyre तो रहेगा ही साथ मे वाहनों से जुड़े कुछ और Product भी रखना चाहते है, तो रखिए । जैसे रिम, ट्यूब आदि में रखा जा सकता है ।


दुकान का प्रकार

किस तरह के टायर बेचने हैं यह निर्धारित होने के बाद आपको कंपनी का चुनाव करना है । यानी की आपको ऐसी कंपनी चुनना है जिसके टायर की बिक्री अधिक से अधिक होती है । आप चाहे तो किसी एक कंपनी की फ्रेंचाइजी ले करके भी टायर का व्यापार शुरू कर सकते हैं । या फिर अलग-अलग कंपनी का टायर को अपने दुकान में रख कर के बेच सकते हैं और Direct मुनाफा कमा सकते हैं । यदि बात की जाए फायदे की तो दोनों ही System में अलग अलग फायदे है और इनमे से कोई बुरा नही है । यदि आपके क्षेत्र में लोग किसी खास कंपनी के Tyre लेना ही पसंद करते हैं तो डीलरशिप एक अच्छा विकल्प है ।


जगह का चयन

कोई भी व्यापार सफल होगा या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने वह व्यापार जिस जगह पर खोला है क्या उधर उसकी मांग है? टायर का व्यापार अधिकतर ऐसी जगह पर खोले जहां वाहनों की आवाजाही ज्यादा हो । यदि आप किसी सुनसान या ऐसी जगह पर टायर का व्यापार खोलेंगे जहां पर ज्यादा ग्राहक नहीं पहुंचते हैं तो आपका Business घाटे में ही रहेगा ।

पेट्रोल पंप के आसपास, किसी गैस स्टेशन के पास टायर की शॉप खोलना बहुत फायदेमंद होता है । आपकी दुकान की लोकेशन इस तरह से होना चाहिए यह रोड से कोई भी इसे आसानी से देख सके । आप जहां भी दुकान खोले वहां पर जगह पर्याप्त मात्रा में हो क्योंकि आपको दुकान में Tyre Storage की व्यवस्था भी करनी पड़ेगी । ग्राहकों के बैठने की व्यवस्था करनी पड़ेगी और साथ में पार्किंग की व्यवस्था भी देखनी पड़ेगी इन सभी के लिए जगह की आवश्यकता पड़ती है ।


लाइसेंस ले

कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले कुछ लाइसेंस लेना जरूरी होता है । ऐसा ही नियम टायर के बिजनेस के साथ भी है| इस बिजनेस को शुरू करने से पहले आप ट्रेड लाइसेंस ले सकते हैं यानी कि आपको लोकल लेवल पर अपने बिजनेस के रजिस्ट्रेशन की जरूरत पड़ेगी । इसके बाद नंबर आता जीएसटी रजिस्ट्रेशन का जिसके बाद आपको एक जीएसटी नंबर मिलेगा | इस नंबर के जरिए ही आपके और सरकार के बीच टैक्स का आदान-प्रदान होगा ।


Online Marketing

आजकल डिजिटल मार्केटिंग का भी चलन काफी ज्यादा बढ़ गया है यदि आप भी अपने प्रोडक्ट और अपने कंपनी का डिजिटल प्रमोशन करना चाहते हैं तो इसके लिए आप एक डोमेन नेम रजिस्टर करें और एक वेबसाइट बनाएं डोमेन नेम और आपके कंपनी का नाम एक ही होना चाहिए ताकि प्रमोशन प्रभावशाली हो सके


Tyre का बिज़नेस के लिए जरूरी उपकरण

Tyre के बिजनेस में यदि उन जरूरी सामानों की बात करें जो आपको खरीदना पड़ेगा उसमे से सबसे प्रमुख तो tyre है । आपको हर Size, Company, Prize के हिसाब से tyre रखने पड़ेंगे । आपको Market Research में जो परिणाम मिला है उसके मुताबिक Tyre अपने शॉप में रख सकते हैं । अब Tyre की बात तो हो गई लेकिन ऐसा नही है कि आपको सिर्फ़ Tyre ही रखना है । आप काफी समान और भी रख सकते हैं ।


जैसे कि टायर Balancing, Tyre Centering Device, Tyre Changer, Tyre Pressure Checker आदि भी आपको रखना चाहिए । ये आपको अपने शहर के लोकल Market में मिल जायेंगे। यदि आप गाँव या कस्बे में अपना बिज़नेस खोल रहे हैं तो पास के शहर जाकर ला सकते है। ये सब बहुत आसानी से मिल जाएगा ।


अब इन सामानों को लेने से पहले कुछ सावधानी रखें जैसे कि आप अभी इस field में नए नए है तो हो सकता है कि आपको इसका उचित दाम पता न हो । तो ठगी से बचने के लिए कुछ दुकानों से कोटेशन मंगवा लें। अब जो आपको सही लगे उसी दुकान से सामान खरीद सकते है।


स्टाफ बढ़ाए ।

यदि आपको बिज़नेस लंबे वक्त तक चलाना है तो उसके लिए एक अच्छा स्टाफ होना बहुत जरूरी है । इसलिए कुछ कुशल, अनुभवी लोगो को काम पर रख लें । वैसे तो इस बिजनेस में किसी इंजीनियर की उतनी ज्यादा जरूरत नही, पर यदि आपका बजट है और अपने कस्टमर को कुछ Extra देना चाहते हैं तो एक Automobile Engineer रखने में कोई बुराई नही है ।


अपने बिजनेस का Promotion करे

आजकल हर चीज़ का प्रमोशन करना पड़ता है, ताकि Customer को पता चल सके। आप भी Business का प्रमोशन कर सकते हैं । इसके लिए Local News Paper में अपना Advertisement मिलवा सकते हैं।दीवारों पर या  एक पोस्टर बनवाकर आसपास की प्रमुख गलियों में लगवाया जा सकता है । इसके अलावा कुछ लुभावने Offers के जरिए अपने Customers को जोड़कर रख सकते हैं ।


  • लोगो को फ्री में मिलने वाली सुविधाएं बहुत पसंद आती है । इसलिए आप अपने ग्राहकों को कुछ सुविधाएं Free में भी दे सकते हैं जैसे Tyre Balancing ।

  • कुछ और लुभावने Offer दे सकते हैं। जैसे कि एक निश्चित मात्रा में सामान खरीदने पर कुछ % का छूट दिया जाएगा । कुछ ऐसा ही आप सामान देकर भी कर सकते हैं ।

  • कोई भी Customer भटकना नही चाहता। इसलिए अपने शॉप में ग्राहकों की जरूरत को पूरा करने वाला अधिक से अधिक सामान रखें ।

  • आप चाहे तो online व्यापार के क्षेत्र में भी आ सकते हैं । किसी E- Commerce Website में Registered होकर उत्पाद भेज सकते हैं ।



व्यवसाय से जुड़ी अन्य बातें

यदि आप यह व्यवसाय (Tyre Business Idea) करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए जानकारी इकट्ठा करनी होगी। आप इस व्यवसाय को शहरी क्षेत्र में खोलें। आप ऐसी जगह इस व्यवसाय को करें जहां अच्छी आबादी हो। यदि आपके बिजनेस को आबादी वाले क्षेत्र में खोलेंगे तो आपके पास कस्टमर जल्दी आएंगे। आप उस क्षेत्र में वाहनों का निरीक्षण भी कर सकते हैं। निरीक्षण से आपको यह पता लगेगा कि उस क्षेत्र में किस तरह के वाहन ज्यादा चलते हैं।


क्षेत्र के अनुसार ही आप वाहन के टायर अपनी दुकान में रखें। आप दो चक्का, चार चक्का या इससे बड़े वाहनों का टायर भी रख सकते हैं। ध्यान रखें कि आपके पास सभी तरह के टायर का मेल होना चाहिए। आप किसी कंपनी का फ्रेंचाइज भी ले सकते हैं। आप टायर बनाने वाले किसी कंपनी से फ्रेंचाइजी लेकर अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं




CONCLUSION

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आशा है कि Tyre ka Business करने के बारे में आपको काफी Idea मिला होगा । ऐसे ही Business Idea की सीरीज आगे आती रहेगी इसलिए आप चाहे तो हमारे Social Media Platform को join कर सकते हैं ,जिससे कि आपको नए Update की जानकारी मिल जाए ।



मुझे उम्मीद है कि इस लेख ने भारत में टायर व्यवसाय शुरू (Tyre Business Plan & Ideas in Hindi) करने से संबंधित आपकी कई शंकाओं का समाधान कर दिया है. यदि आपके कोई सुझाव हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में उनका उल्लेख करने के लिए स्वतंत्र महसूस करें. अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.




FAQ

Q : टायर का व्यवसाय क्या है ?

Ans : यह गाड़ी में लगने वाले विभिन्न कंपनियों के टायर बेचने का व्यवसाय है.


Q : टायर का बिज़नेस कैसे करें ?

Ans : सभी कंपनी के टायर बेचकर या फिर किसी एक कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर.


Q : टायर के बिज़नेस में कितना निवेश करना होता है ?

Ans : लगभग 5 लाख रूपये.


Q : टायर के बिज़नेस में कितना मुनाफा होता है ?

Ans : 40 से 50 हजार रूपये प्रतिदिन.


Q : टायर के बिज़नेस में कौन – कौन से लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है ?

Ans : ट्रेड लाइसेंस, जीएसटी रजिस्ट्रेशन, डोमेन रजिस्ट्रेशन एवं शॉप एंड इस्टैब्लिशमेंट एक्ट के तहत रजिस्ट्रेशन आदि.


Post a Comment

0 Comments